शनिवार, 18 अप्रैल 2020

sachi bate pic in hindi सच्ची बाते with फोटो

आज हम आपके साथ share करने जा रहे है Sachi bate pic in hindi सच्ची बाते with फोटो। 

[1]
sachi bate pic in hindi
'' सच्ची बाते ''

एक सबेरा था जब हँसकर उठते थे हम 
और आज कई बार बिना मुस्कुराये ही शाम हो जाती है। 

[2]
बदलते तो इंसान है 
वक्त तो एक बहाना है। 

[3]
बड़े अनमोल है ये खून के रिश्ते,इनको तू बेकार न कर,
मेरा हिस्सा भी तू लेले मेरे भाई घर के अगन में दिवार न कर। 

[4]
जिंदगी अपने हिसाब से जीना चाहिए,
औरो के कहने पर तो सर्कस में शेर भी नाचता है।

[5]
न किस्सों  से और न किश्तों से,
ये जिंदगी बनती है कुछ रिश्तो से।

[6]
इससे बड़ी democracy क्या होगी,
अपने देश में ज्यादातर सरकारी अफसर 
खुद को प्रधानमंत्री समझते है।

[7]
वास्तविकता मेरे जीवन को बर्बाद करते जा रही है।

[8]
जरा सी आहट से वो जाग जाता है रातो में,
खुदा अगर बेटी दे गरीब को तो दरवाजा भी दे।

[9]
जिंदगी में दो शब्द कहने में काफी मुश्किल होता है।,
पहली बात किसी अजनबी से हेलो और आखरी बार किसी अपने से अलबिदा।

[10]
मेरा दर्द किसी के हसने की वजह जरुर बन सकता है,
लेकिन मेरी हंसी  किसी के दर्द की वजह नहीं बननी चाहिए।

[11]
ये जो नरम दिल लोग होते है ना 
ये लोग गुस्से में भी रोने लगते है। 

[12]
दुनिया में सब मतलबी होते है कोई किसी का नहीं होता है।

[13]
-जिम्मेदारियां मजबूर कर देती है अपना गाव छोड़ने को,
वरना कौन अपनी गली में जीना नहीं चाहता।

[14]
sachi bate pic in hindi
जिंदगी एक बार ही सही लेकिन ऐसे शक्श से जरुर मिलवाती है, 
जिसके साथ हम अपना सबकुछ बाँट लेना चाहते है।

[15]
कोई लक्ष्य मनुष्य के साहस से बड़ा नहीं,
हारा वही जो दिल से लड़ा नहीं।

[16]
गाव में छोड़ आये हजार गज की बुजुर्गो की हवेली,
वो शहर में सौ गज में रहने को खुद की तरक्की कहते है।

[17]
चेहरा बता रहा था की मारा है भूख ने,
और लोग कह रहे थे की कुछ खा के मारा है।

[18]
सफ़र जिंदगी का बहुत ही हसीन है,
सभी को किसी न किसी की तलाश है,
किसी के पास मंजिल है तो राह नहीं,
और जिसके पास राह है तो मंजिल नहीं।

[19]
पहचान कफ़न से नहीं होती है दोस्तों,
लाश के पीछे काफिला बयाँ कर देता है
 की रुतवा किस हस्ती का है।

[20]
धुएं की तरह उड़ना सीखिए
 जलना तो लोग भी सीख जाते है।

[21]
वक्त बड़ा अजीब होता है,इसके साथ चलो तो किस्मत बदल देता है, 
और न चलो तो किस्मत को ही बदल देता है।

[22]
ए उम्र कुछ कहा मैंने पर शायद तूने सुना नहीं,
तू छीन सकती है बचपन मेरा पर बचपना नहीं।

[23]
सच सुनने से ना जाने क्यों कतराते है लोग,
तारीफ चाहे झूठी हो सुनकर खूब मुस्कुराते है लोग।

[24]
पर क्या लगे की घोंसले से उड़ गए सभी,
माँ फिर अकेली रह गयी बच्चे को पाल कर।

[25]
जिंदगी सभी के लिए वही है, फर्क शिर्फ़ इतना है कोई दिल से जी रहा है 
और कोई दिल रखने के लिए जी रहा है।  

[26]
कान के कच्चे कुछ लोग 
अपनी उन गलतियों के लिए नाराज रहते है,
जो आपने कभी की ही नहीं। 

[27]
जिंदगी लोगो से प्रेम करने, उनकी सेवा करने, 
उन्हें सशक्त बनाने 
और उन्हें प्रोत्साहित करने का नाम है। 

[28]
दो पल की जिंदगी है इन्हें जीने के शिर्फ़ दो उसूल बना लो, 
रहो तो फूलो की तरह और बिखरो तो खुशबू की तरह।

[29]
मीठी बाते ना कर ये नादान परिंदे,
इंसान सुन लेगा तो पिंजरा ले आएगा।  

[30]
इंसानों की बस्ती में रहता हु साहेब,
कौन कहता है की मै खतरों का खिलाडी नहीं। 

[31]
हम जो मिल जाते है आसानी से,
लोग समझते है की बेकार है हम।  
Previous Post
Next Post

0 coment�rios: